बूस्टर डोज (Booster Dose) :- कोरोना संक्रमित (covid-19) होने पर बूस्टर डोज (Booster Bose), 3 माह बाद लगेगी -आइए जाने संपूर्ण जानकारी

आप सभी दोस्तों को बता दें की कोरोना संक्रमण (covid-19) का खतरा घट रहा है। लेकिन आप सभी को एक बात का ध्यान देना चाहिए कि विभाग टीकाकरण (vaccine) का लक्ष्य पूरा करने में लगे हुए है। जिस किसी व्यक्ति को कोरोना (covid-19)!का टीका लग चुका था। उस व्यक्ति को ध्यान देना चाहिए की वह कोरोना (covid-19) की तीसरी लहर में सुरक्षित रहे। यदि किसी को भी कोरोना (covid-19) हो गया था। तो वह भी जल्दी ही ठीक हो गए। अब तक स्वास्थ्य विभाग ने जिले में 17 लाख 48 हजार 841 टीके लगा चुके हैं। अब स्वास्थ्य विभाग का जोर किशोरों के वैक्सीनेशन पर है। जिले में 60% किशोरों को वैक्सीन लग चुकी है। लेकिन आप सभी को जानकारी देते हुए बता दें की बूस्टर डोज (Booster Dose) के लिए लोग आगे नहीं आ रहे हैं। उनके मन में किसी बात का भय उत्पन्न हो रहा है।

1158369 whatsapp image 2022 02 09 at 70456 pm 1
बूस्टर डोज (Booster Dose) :- कोरोना संक्रमित (covid-19) होने पर बूस्टर डोज (Booster Bose), 3 माह बाद लगेगी -आइए जाने संपूर्ण जानकारी 3

Read More …. महाराष्ट्र(Maharashtra) :- महाराष्ट्र (Maharashtra) संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन शुरू-आइए जानिए पूरी जानकारी

Advertisements

आप सभी दोस्तों को जानकारी देते हुए बता दे की कोरोना (covid-19) से बचाव काे लेकर स्वास्थ्य विभाग का पूरा ध्यान टीकाकरण अभियान पर ही है। पिछले महीने जिले में 18 प्लस वालों का शत प्रतिशत टीकाकरण (vaccine) हो चुका है। जिले में 9 लाख 55 हजार 910 लोगों को टीके की पहली डोज लग चुकी है। लेकिन इनमें से दोनों डोज 7 लाख 38 हजार 867 ने लगवाई है। आपको बता दें की इस हिसाब से 79 प्लोगों को दोनों डोज लग चुकी है।

कुछ व्यक्ति बूस्टर डोज लगवाने से मना कर रहे हैं

सभी दोस्तों को बता दूं की अभी कुछ व्यक्ति बूस्टर डोज (Booster Dose) लगवाने से पीछे हट रहे हैं लेकिन उनको बूस्टर डोज (Booster Dose) अवश्य लगवानी चाहिए। हेल्थ वर्कर, फ्रंटलाइन व 60 वर्ष की आयु वाले वह लोग जो गंभीर बीमारियों से ग्रस्त है। यह उनको बूस्टर डोज लगाई जा रही है। अभी तक जिले में 7825 लोगों को बूस्टर डोज (Booster Dose) लग चुकी है। लेकिन यह संख्या काफी अधिक है। इसकी एक वजह यह भी है कि कोरोना (covid-19) की तीसरी लहर में चपेट में आने वाले मरीज को तीन महीने बाद ही बूस्टर डोज (Booster Dose) लगाई जाएगी। क्योंकि तीन माह तक मरीज में एंटीबाडी रहती है। इसके बाद ही बूस्टर डोज लगाई जाएगी।

Advertisements

Read Moreघर बैठे आधार कार्ड में मोबाइल नंबर को कैसे बदले-आइए जानिए!

JOIN TELEGRAM GROUPCLICK HERE
HOME PAGECLICK HERE

प्रिय दोस्तों को बता दे कि अगर हमारे द्वारा दी गई जानकारी आप सभी को अच्छी लगी होगी इस जानकारी को अपने दोस्तों के पास भी शेयर करें धन्यवाद!!!!!!

Advertisements