MP School : नए साल में स्कूलों को मिलेगी बड़ी सौगात, शिक्षा व्यवस्था में होगा सुधार-जाने

मध्य प्रदेश सरकार स्कूल शिक्षा को सूचित करने के साथ ही शासकीय स्कूल में मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने को लेकर प्रतिबद्ध है जिसके लिए कई तरह की योजनाएं लांच की जा चुकी है वहीं मध्य प्रदेश सरकार द्वारा उन योजनाओं पर लगातार काम के अपडेट लिए जा रहे हैं सरकारी स्कूल को भी विभिन्न स्तर पर निजी स्कूलों के बराबर लाने की कवायद तेज हो गई है शासकीय स्कूल में निजी स्कूल की तरह मूलभूत सुविधाएं मिलने के साथ ही इसका सबसे बड़ा फायदा छात्रों को होगा।

पिछले 2 सालों से कोरोना महामारी के प्रकोप की वजह से मध्यप्रदेश में संचालित कई योजनाएं बीच में अटक गई थी जिसे नए वर्ष में पूरा किया जाएगा वहीं शासकीय स्कूल में शिक्षा की व्यवस्था में लगातार हो रहे सुधारों को देखते हुए बहुत से अभिभावकों ने अपने बच्चों का दाखिला शासकीय अर्थात सरकारी स्कूल में करवा दिया है यदि आंकड़ों की मानें तो सत्र 2021 22 मई सरकारी और निजी स्कूलों में करीबन 13800000 में प्रवेश लिया है जिनमें शासकीय स्कूल में पहली से आठवीं तक में 6500000 छात्रों ने प्रवेश लिया है जबकि नौवीं से बारहवीं तक में 2500000 छात्रों ने प्रवेश की प्रक्रिया को पूर्ण किया है।

इन्हें भी पढ़े …. MP Latest News : छात्रों के लिए सीएम शिवराज की बड़ी घोषणा , ऐसे मिलेगा लाभ – जाने

मध्यप्रदेश में दिल्ली के शासकीय स्कूल की तर्ज पर ही 350 सरकारी स्कूलों को सीएम राइस स्कूल के रूप में चयनित किया गया है। इन सभी स्कूलों के अलावा प्रदेश में 9200 सरकारी स्कूलों को सीएम राइस स्कूल में बदला जाएगा । सीएम राइस स्कूल में परिवहन, छात्रावास की व्यवस्था सहित खेल के लिए ग्राउंड की भी व्यवस्था होगी। CM राइस स्कूलों में स्मार्ट कक्षाएं हर क्लास में शिक्षक की उपस्थिति तथा भोजन कक्ष की व्यवस्था और पेयजल ,फर्नीचर व बिजली की व्यवस्था अनिवार्य रूप से की जाएगी।

हालांकि मध्य प्रदेश के 11 सरकारी स्कूलों में प्ले ग्रुप की कक्षाएं संचालित की जा रही है। शिक्षा की व्यवस्था को एक नया रूप देने के लिए कक्षा एक से कक्षा 8 की बोर्ड परीक्षा फिर से आयोजित करने की तैयारी कर ली गई है। इससे परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव किया जाएगा नई शिक्षा नीति के तहत पाठ्यक्रम लागू किए जाने के साथ ही कक्षा 10 एवं 12 की बोर्ड परीक्षा अब नए पैटर्न पर लागू की गई हैं।

इन्हें भी पढ़े ….. किसान सम्मान निधि : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का किसानों को नए साल पर तोहफा 20 हजार करोड़ किए ट्रांसफर

इतना ही नहीं मध्यप्रदेश में शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ शारीरिक गतिविधियों को भी बढ़ावा दिया जाएगा खेलकूद सहित क्विज कंपटीशन आयोजित किए जाएंगे इसके साथ एनसीसी सहित अन्य गतिविधियों के आधार पर छात्रों के अंकों का आकलन अनिवार्य रूप से किया जाएगा कक्षा 10 एवं 12 के बाद करियर को एक नई दिशा देने के लिए छात्रों की करियर काउंसलिंग शुरू की गई है साथी प्रोफेशनल एग्जामिनेशन के लिए छात्रों की पूर्ण रूप से तैयारी करवाई जा रही है।

X
Optimized by Optimole