MP Board Class 12th Biology Question Bank Solution | मध्य प्रदेश बोर्ड कक्षा 12 जीव विज्ञान प्रश्न बैंक सलूशन [ Long Question ]

हाल ही में मध्य प्रदेश बोर्ड ने बोर्ड परीक्षा की सटीक तैयारी के लिए तथा विद्यार्थियों के रिजल्ट में मार्क्स को बढ़ने के उद्देश्य से प्रश्न बैंक जारी किये . जिसकी मदद से बच्चे सटीक दिशा में तैयारी कर सके. बोर्ड एग्जाम में बेहतर प्रदर्शन के लिए सभी विद्यार्थियों को प्रश्न बैंक का बहुत ही सटीकता के साथ अध्ययन करना चाहिए. आज के इस लेख में हम आपको जीव विज्ञान के प्रथम अध्याय [ Long Questions ] के सलूशन को नीचे प्रोवाइड करा रहे है जिसकी मदद से आप अपनी परीक्षा की तैयारी बहुत ही बेहतर तरीके से कर पाओगे. यदि आप अन्य सभी विषयों के प्रश्न बैंक का सलूशन चाहते है तो इस वेबसाइट को लगातार विजिट करे.

 

प्रश्न 01. कायिक प्रवर्धन क्या है ॽ दो उदाहरण दीजिए।

किसी पौधे के वर्दी भाग जैसे जड़ तना अथवा पति के द्वारा नया पौधा तैयार होना कायिक प्रवर्धन कहलाता है।
उदाहरण–भूमिगत तना (आलू) की आंखों मैं कलिका होती है जो नए पौधे को जन्म देती है अदरक, अरबी में भी इसी प्रकार का प्रजनन होता है.

प्रश्न 02 ऋतु स्त्राव चक्र को परिभाषित कीजिए

कुछ स्तनधारी मादा जैसे-मनुष्य में प्रजनन काल लगभग 13 से 15 वर्ष से लगाकर 45 वर्ष तक होता है इस काल में अंडाशय सहायक नलिका ओ एवं हार्मोन स्तर में चक्रीय मासिक बदलाव होते हैं जिस का प्राथमिक कार्य शरीर को निषेचन व गर्भधारण करने के अनुकूल बनाना है इस प्रक्रिया को ऋतु स्त्राव चक्र कहते हैं इसका प्रमुख लक्षण योनि से होने वाला रक्त स्त्राव है जिसे मासिक चक्र या ऋतु स्त्राव कहते हैं.

प्रश्न 03: उभयलिंगाश्रयी एवं एकलिंगाश्रयी को परिभाषित कीजिए।

एकलिंगाश्रयी÷ एक लिंगी पुष्प अथवा शंकुओ  को धारण करने वाला पौधा अर्थात नर व मादा पौधों के अलग-अलग पाए जाने की अवस्था को
एकलिंगाश्रयी कहते हैं।
उदाहरण– पपीता शहतूत भांग इनमें परपरागण होता है
उभयलिंगाश्रयी÷ ऐसे पौधे जिनमें नर जननांग व मादा जननांग एक साथ एक ही पुष्प मैं पाए जाते हैं उन्हें उभयलिंगाश्रयी  कहते हैं।
उदाहरण-मक्का खीरा कद्दू इनमें स्वपरागण होता है।

प्रश्न 04: पुनरुदभवन क्या है  उदाहरण सहित लिखिए।

पूर्णरूपेण विभेदित जीवों में अपने कायिक भाग से निर्माण की क्षमता होती है अर्थात किसी जीव के अनेक टुकड़े कर दिए जाए तो वह प्रत्येक टुकड़ा विकसित होकर नए जो का निर्माण कर लेता है इसे पुनरुदभवन कहते हैं इसका दूसरा नाम पुनर्जनन  भी है।
उदाहरण— हाइड्रा तथा पनेरिया जिसे सरल प्राणियों को यदि टुकड़ों में काट दिया जाए तो प्रत्येक टुकड़ा विकसित होकर एक नए जीव का निर्माण कर लेता है।

प्रश्न 05: आंतरिक निषेचन क्या है उदाहरण लिखिए

जीवो के शरीर में संपन्न होने वाला युग्मक संलयन आंतरिक निषेचन कहलाता है आंतरिक निषेचन करने वाले जीवो में अचल मादा युग्मक अंडाणु तथा चल नर युग्मक शुक्राणु होते हैं अचल मादा युग्मक अंडाणु मादा के शरीर में ही स्थित होता है जबकि चलनशील नर युग्मक शुक्राणु मादा के शरीर में पहुंचकर अंडाणु को निषेचित करता है
उदाहरण– जिम्नोस्पर्म तथा एंजियोस्पर्म इसका एक अच्छा उदाहरण।

प्रश्न 06: युग्मक स्थानांतरण को संक्षेप में लिखिए।

नरी तथा मादा युग्मक  का कायिक रुप से एक दूसरे के नजदीक पहुंचने की क्रिया को युग्मक का स्थानांतरण कहते हैं। प्राय: नर युगमक  गतिशील होते हैं तथा मादा युग्मक अचल होते हैं उच्च पादपों में पराग की क्रिया पाई जाती है जिनके द्वारा नर युग्मक मादा युग्मक तक पहुंचते हैं।

प्रश्न 0७: बीजाणु जनन को संक्षेप में लिखिए।

ऐसा अलैंगिक जनन जिसमें पौधे में अनेक भी जान उत्पन्न होते हैं जो उचित परिस्थिति पर जनक के शरीर से अलग होकर नए पौधे का निर्माण करते हैं इसे ही बीजाणु जनन कहते हैं
उदाहरण– रायजोपस

प्रश्न 08: खंडन विधि क्या है।

एसी विधि जिसके द्वारा किसी जीव का शरीर खंडों में टूटकर नए जिव का निर्माण करता है इसे ही खंडन विधि कहते हैं यह एक प्रकार का अलैंगिक प्रजनन है

लघु उत्तरीय प्रश्न

प्रश्न 01: जुस्पोर तथा युगमनज मैं अंतर लिखिए

जुस्पोर
1=यह अलैंगिक जनन से संबंधित संरचना है।
2=यह प्राय: अगुणित होते हैं।
3= जुस्पोर मैं एक ही जनक के लक्षण होते हैं।
4= यह चल होते हैं।
युगमनज
1= यह लैंगिक जनन में पाया जाता है।
2=यह द्विगुणित होते हैं।
3=क्योंकि यह नर तथा मादा युग्मक के संलयन से बनता है अतः इसमें दो जनक के लक्षण पाए जाते हैं।
4= यह प्राय: अचल होते हैं।
आशा है की आपको यह पोस्ट जानकारी से भरपूर लगी होगी. इसी प्रकार की जानकारी के लिए हमारी  वेबसाइट को लगातार विजिट करे और इस पोस्ट को अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करे.
X
Optimized by Optimole