करोना एक वैश्विक चुनौती

प्रस्तावना.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

दिसंबर 2019 में चीन के वुहान शहर में करोड़ों नामक एक नई बीमारी वायरस ने कहर बरपाना शुरू किया. वहां से यह बीमारी देखते ही देखते विश्व के अधिकांश शहरों में फैल गई. इसकी भयावहता को देखते हुए 11 मार्च सन 2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठ wHo ने इसे महामारी घोषित कर दिया. इससे बचने के लिए अधिकांश देशों ने अपने यहां संपूर्ण लॉकडाउन घोषित कर दिया और लगभग सारी दुनिया एक साथ अपने घरों में कैद हो गई.

कोरोना का संक्रमण

कोरोना वायरस संसार की सभी संजीव और निर्जीव वस्तुओं को संक्रमित कर देता है.यह वायरस निर्जीव वस्तु पर कुछ मिनटो से लेकर कई दिनों तक जीवित रहता है. मनुष्य में यह संक्रमित वस्तुओं को छूने से आज संक्रमित व्यक्तियों के नाम तथा मुंह से निकले नाक थूक और वाष्प के अतिसूक्ष्म कणों के व्यक्ति के सांस सांस तक पहुंचने से से जैसा इसीलिए इस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए नाक मास्क लगाने तथा एक दूसरे से दो गज की दूरी बनाए रखने के लिए कहा जाता है.साबुन के झाग और ऐल्कोहॉल से यह वायरस मे नष्ट हो जाता है .अत बार-बार साबुन से हाथ धोने और ऐल्कोहाल मिश्रित सैनिटाइजर से हाथों और अन्य वस्तुओं को निस्सक्रमिक करने के लिए कहा जाता है.

लक्षण और बचाव

कोरोना वायरस मनुष्य के श्वसन तंत्र आक्रमण करता है.यह सबसे पहले आंख नाक या मुंह के माध्यम से उसके गले में प्रवेश करता है.और तीन-चार दिनो तक उसके गले में बना रहता है.जिससे गले में खिच खिच खराश और दुं:खन उत्पन्न होती है.इसी संक्रमित व्यक्ति में खांसी और जुकाम के लक्षण दिखाई देने लगते हैं शरीर में संक्रमण ज्योत ज्यो बढ़ता जाता है.उसके फेफड़ों की क्षमता कम हो जाती है.और व्यक्ति को सांस लेने में परेशानी होने लगती है.कुछ लोगों की आंखों में लाली और जलन होने लगती है.संक्रमित व्यक्ति बुखार से पीड़ित हो जाता है.कभी-कभी पेट दर्द उल्टी अतिसार अधिक की परेशानी भी व्यक्ति को होने हो जाती है.यह जरूरी नहीं कि यह लक्षण सभी संक्रमित व्यक्तियों में दिखाई दे. अधिकांश व्यक्तियों में सर्दी जुकाम खांसी बुखार और छींक आना गले में खराश या दु:खन होना या सांस लेने में परेशानी होना अधिक लक्षण ही मुख्य रूप से दिखाई देते है.औरकुछ लोगों में इनमें से कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देता. कोरोना का अभी तक कोई इलाज नहीं खोजा जा सकता है.अतः आप भी सावधानी रखना ही इसका एकमात्र बचाव है.इसका संक्रमण क्योंकि संक्रमित वस्तुओं या व्यक्तियों को छूने से फैलता है.अत: संक्रमित वस्तुओ से दूर रहना ही इससे बचाव का उपाय है.इससे बचाव के लिए प्रत्येक व्यक्ति को निम्नलिखित उपाय करने चाहिए.

  1. किसी भी वस्तु को अनावश्यक रूप से छूने से बचें क्योंकि वह कोरोना से संक्रमित हो सकती है.
  2. आपस में एक दूसरे से कम से कम 2 गज की दूरी बनाए रखें.
  3. हाथ ना मिलाएं दूर से नमस्ते आज ही से अभिवादन करें अनावश्यक रूप से घर से बाहर ना निकले.
  4. घर से बाहर निकलने पर मुंह पर मास्क अवश्य लगाए कार्यलयों अल्लू आधी मे बाजार जिला धीश मैं भी काम का जिसमें पारस्परिक दूरी का पालन का और मास्क का प्रयोग पुर समय करें.
  5. खांसते या छीकते समय नाक और मुंह को रुमाल से ढके और रुमाल न होने पर कोई कोहनी से नाक और मुंह को ढके.
  6. दिनभर थोड़ी-थोड़ी समयान्तराल पर साबुन से हाथ धोने की आदत डालें या सैनेटाइजर से हाथो को निस्संक्रमित करे.
  7. हाथों में दस्ताने का उपयोग करें हाथों को साबुन से धोएं बिना या सैनेटाइजर किए बिना आंख नाक और मुंह को न छुए .
  8. बाजार बाजार से लाई वस्तुओं को निस्संक्रमिकत करने के बाद ही उपयोग करें.
  9. सार्वजनिक स्थानों पर न थूके पान बीड़ी तंबाकू का सेवन न करे.
  10. बाहर से घर लौटने पर जूते चप्पल घर के बाहर ही उतारे और संभव हो तो साबुन के पानी से धोएं या सैनिटाइजर करें.
  11. कपड़ों को गर्म पानी और डिटर्जेंण्ट से धोएं या घर से बाहर एक कोने में उतार कर रखें.
  12. ठंडी चीजों को खाने से बचे पानी पिए गर्म पानी पिए तुलसी लौग अदरक या सौठ और अजवाइन का काढ़ा पीएं
  13. शरीर की प्रतिरोधात्मकशक्ति को बढ़ाने वाले फल टॉनिक भोजन का उपयोग करें.
  14. कोई भी लक्षण दिखाई देने पर स्वयं को ही कमरे में रखे और तुरंत स्वास्थ्य विभाग को सूचित करें डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें.
  15. अपने मोबाइल में आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करें और उसे सदैव सक्रिया रखें.

विश्व की चुनौतियां

कोरोना महामारी के कारण आज विश्व के सामने अनेक चुनौतियां हैं.मानवता की रक्षा के लिए इन सभी चुनौतियों पर विजय पाना आवश्यक है कुछ मुख्य चुनौतियां इस प्रकार है (क) वैक्सीन अथवा इलाज खोजने की चुनौती (ख) अर्थव्यवस्था को बनाए रखने की चुनौत(ग) बेरोजगारी की चुनौत(घ) व्यापार कारखानों और यातायात को पुन शुरू करने की चुनौती(च) सामाजिक और संस्कृति के ताने बाने को बनाए रखने की चुनौती(छ) भाईचारे और विश्व बंधुत्व की भावना को बनाए रखने की चुनौती

भारत की स्थिति और संभावनाएं

भारत ने इस वायरस से बचाव के लिए बड़े योजना बंद तरीकों से काम कियाजिसके परिणाम स्वरुप यह यहां पर 12 अगस्त सन 2020 को कोरोना को हराकर स्वस्थ होने वालों की संख्या 70% तक पहुंच गई है जो कि विश्व में सर्वाधिक है इस वायरस से बचाव के लिए लिए भारत ने विश्व को योग आयुर्वेदा और हाइड्रोक्सीरोक्वीन जैसे अंग्रेजी दवाओ सम्मिश्रण के उपाय सुझाए हैं डॉक्टर नर्सआदि के द्वारा पहने जाने वाली पीपीई किट के उत्पादन मे भारत विश्व में दूसरे स्थान है वह विदेशों को पीपीई किट अंग्रेजी और आयुर्वेदिक दवाइयों का निर्यात करके उनके लिए संकट मोचन बनकर उभरा है विश्व के अनेक बड़ी व्यापारिक कंपनियां चीन को छोड़कर भारत में निवेश करने का मन बना चुकी है इससे भारत सहित संपूर्ण विश्व की अर्थव्यवस्था सुदृढ़ होगी.

उपसंहार

अन्तत: यही कहा जा सकता है कि प्रधानमंत्री मोदीजी के कुशल नेतृत्व में भारत न केवल कोरोना पर विजय प्राप्त करेगा अपितु विश्व गुरु की भूमिका का निर्वहन करते हुए संपूर्ण विश्व का मार्गदर्शन

Leave a Comment

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now
X
Vada Pav Girl Net Worth Post Office KVP Yojana में 5 लाख के मिलते है 10 लाख रूपये, जाने पैसा कितने दिनों में होगा डबल SSC GD 2024 Result, Merit List Cut-Off What is the Full Form of NASA?
Copy link
Powered by Social Snap