MP Board Scholarship 2022-23(Class 9 to 12)–Now new order issued for scholarship, very important

[MP Board Scholarship 2022-23]छात्रवृत्ति के लिए कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों को 31 अक्टूबर तक ई-केवाईसी करवाना होगा।

इसके लिए बैंक खाते को आधार से लिंक करना जरूरी है।

इस संबंध में लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा आदेश जारी किए गए हैं। इसके अनुसार शिक्षा पोर्टल पर सदस्यता चालू कर दिया गया है। छात्रों को ई-केवेसी की प्रक्रिया खुद करनी होगी। यह प्रक्रिया मोबाइल पर ओटीपी के माध्यम से या फिर बायोमैट्रिक्स द्वारा की जा रही है।

Read now 7
MP Board Scholarship 2022-23(Class 9 to 12)–Now new order issued for scholarship, very important 3

इसका सत्यापन शाला द्वारा किया जाएगा। इसमें छात्रों की समग्र आइडी और आधार में जानकारी एक जरूरी है। अगर नाम या जन्मतिथि आदि में अंतर है तो ई केवेसी रिजेक्ट हो जाएगा। इसके बाद छात्रों को फिर ई-केवेसी करना होगा, इसके बाद ही प्रोफाइल अपडेशन होगा। उसी खाते में आवंटन के लिए 31 अक्टूबर तक अंतिम तिथि निर्धारित की गई है। आधार से बैंक खाता लिंक नहीं होने पर छात्र नहीं बनेंगे।

शासन के से 12वीं तक के छात्रों को छात्रवृत्ति के लिए बैंक खाते को आधार से लिंक करना होगा। साथ ही शिक्षा पोर्टल पर ई केवाईसी करानी होगी, तभी छात्रवृत्ति मिलेगी। इस संबंध में सभी प्राचार्यों को बीईओ को निर्देश दिए गए हैं।

इन छात्रों के लिए 28 तरह की फैसिलिटी शासन द्वारा प्रदान की जाती है। इस तरह के मैट्रिक, पोस्ट मैट्रिक, एससी-एसटी व ओबीसी के छात्रों को पात्रता के अनुसार छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है। इसके अलावा स्वामी विवेकानंद पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति, सुदामा निर्धन छात्रवृत्ति निशक्तजन छात्रवृत्ति, पितृहीन कन्या छात्रवृत्ति की सुविधा भी है। स्कूल स्तर पर डांसिंग व प्रोफाइल अपडेशन होने के बाद संकुल प्रतिशतता के अनुसार योग्यता प्राप्त की जाती है। इसके बाद वन क्लिक के माध्यम से छात्रों के खाते में सरकार द्वारा छात्रवृत्ति दी गई। प्रदान किया जाता है। लेकिन कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए बैंक खातों को आधार से लिंक करवाना जरूरी है। इसके बाद ई-केवेसी हो जाने पर छात्रों के खातों में छात्रवृत्ति का भुगतान हो सकता है।

कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों को छात्रवृत्ति मिलने में परेशानी नहीं हो सकती है, इसके लिए झटके पर ब्रेकअप और ई केवासी जोखिम के निर्देश दिए हैं। यह काम 31 अक्टूबर तक पूरा हो चुका है। आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय के आदेश में कहा गया है कि जिन छात्रों की ई-केवेसी अपडेट नहीं होगी उनकी छात्रवृत्ति स्वीकृति शिक्षा पोर्टल पर नहीं की जाएगी। उसी समय हर प्रवासी का एक ही खाता दिया जाए जो आधार से लिंक हो। बिना आधार लिंक खाते में छात्रवृत्ति नहीं मिलेगी। ई-केवेसी के बने संकुल के प्राचार्य यह सुनिश्चित करने के लिए कि छात्र की ऑनलाइन छात्रवृत्ति योग्यता की गणना शिक्षण पोर्टल परीक्षार्थी के लिए की जाए। इस कार्य में किसी या किसी तरह से जाजर छात्र को छात्रवृत्ति मिलने के मामले में पूरी तरह से संकुल प्राचार्य जिम्मेदार होंगे। कक्षा 9वीं से 12वीं के छात्रों को छात्रवृत्ति का भुगतान केवल छात्रों के आधार लिंक, प्रमाण पत्र बैंक खाते में किया जाएगा। जिन छात्रों का खाता आधार से लिंक नहीं होगा उन्हें छात्रवृत्ति का भुगतान नहीं होगा।

Leave a Comment