भारतीय शिक्षा का इतिहास एवं विकास -महत्वपूर्ण प्रश्न 61

जवार नवोदय विद्यालय के विषय में लिखिए। अथवा ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 1986’ कि किसी एक सिफारिश को समझाइए।

उत्तर – ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति’ 1986′ की एक महत्वपूर्ण सिफारिश थी कि देश में प्रतिभासंपन्न बालकों को समानता के आधार पर शिक्षा प्रदान की जानी चाहिए। इसके लिए नवोदय विद्यालय की अवधारणा प्रस्तुत की गई इस प्रकार ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति, 1986’ की एक अत्यंत महत्वपूर्ण देन है – नवोदय विद्यालय राष्ट्रीय शिक्षा नीति मैं नवोदय विद्यालय को प्रगति मूलक विद्यालय भी कहा गया है। विशिष्ट प्रतिभाशाली बालकों की तीव्र गति हेतु अच्छी शिक्षा बिना आर्थिक भार के देना हेतु इन विद्यालयों की स्थापना की गई। कार्यकारी योजना के अंतर्गत प्रगतिमुल्क विद्यालय को नवोदय विद्यालय कहां गया इन विद्यालयों में ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली बालकों को चयन प्रक्रिया के आधार पर प्रवेश दिया जाता है। शिक्षा नीति 1986 द्वारा सही अर्थों मैं व्यक्ति का विकास करने की आवश्यकता पर जोर देते हुए प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने कहा था, “शिक्षा से बुद्धि का विकास होना चाहिए व्यक्तित्व का विकास होना चाहिए, व्यक्ति का विकास होना चाहिए; तदुपरांत कौशल अथवा हुनर और धन कमाने की क्षमता तो स्वत: की अस्तित्व में आ जाएगी” मौलिकता, नवीनता, समानता इत्यादि विचारों से ओतप्रोत नहीं राष्ट्रीय शिक्षा नीति में नवोदय विद्यालय की स्थापना एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रयास है।

X
Optimized by Optimole