ये gateway एक ऐसा hardware device होता है जो की एक “gate” के तरह कार्य करता है

दो networks के भीतर। ये कोई router, firewall, server, या फिर कोई दूसरा device भी हो सकता है

जो की traffic को network में in और out flow होने के लिए enable करती है।

वैसे ये gateways ही हैं, जिसके मदद से हम data को back और forth भेज सकते हैं।

वैसे एक gateway protect करता है nodes को network के भीतर, इसके अलावा ये खुद भी एक node होता है।

ये gateway node network के edge में स्तिथ होता है और सभी data इसके माध्यम से flow होता है जो की network के अन्दर घुसता है या फिर बाहर निकलता है।

इसके साथ ये received data को translate भी कर सकती है जो की बाहर के networks से प्राप्त होती है,

एक gateway उन बहुत से तरीकों में से एक है जिसके द्वारा हमारा data पुरे web में move करता रहता है।