: हमारे देश में 20 करोड़ से अधिक लोग कृषि कार्य कर रहे हैं और सभी किसानों को कृषि कार्य के लिए समय-समय पर धन की आवश्यकता होती है।

यह योजना मुख्य रूप से सभी किसानों के लिए शुरू की गई है, कृषि पर ऋण लेने की प्रक्रिया को किसान क्रेडिट कार्ड योजना या ग्रीन कार्ड योजना कहा जाता है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के माध्यम से सभी किसानों को ₹300000 तक का ऋण केवल 4% ब्याज दर पर प्रदान किया जाता है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको नीचे दी गई कुछ बातों का ध्यान रखना होगा जैसा कि हमने इस लेख के माध्यम से बताया है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना 1998 में भारत सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक और नाबार्ड द्वारा संयुक्त रूप से कब शुरू की गई थी। किसान क्रेडिट कार्ड योजना 5 साल की छोटी अवधि के लिए 4% ब्याज दर पर दिया जाने वाला ऋण है।

यदि आपने पहले किसी भी बैंक से कृषि कार्य के लिए ऋण नहीं लिया है तो सभी किसानों के लिए बता दें किसान क्रेडिट कार्ड योजना के माध्यम से आपको ₹300000 तक का ऋण 4% ब्याज दर पर प्रदान किया जाता है।

किसान क्रेडिट कार्ड योजना के माध्यम से सभी किसान इस ऋण को अपने गांव या शहर के नजदीकी बैंक से पास करा सकते हैं।

भारत में लाखों किसानों की आर्थिक स्थिति अभी भी ठीक नहीं है। आर्थिक सहायता प्राप्त करने के लिए बहुत से किसानों को अपनी जमीन बेचकर पैसा देना पड़ता है