MP Board Exam Update 2022: अबकी बार 25 की जगह 40 % ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जायेंगे- अभी जाने

MP Board Exam Update: बोर्ड एग्जाम के रिजल्ट में इजाफा करने के एवं बच्चो पर से बड़े प्रश्नों के दबाव को हटाने के उद्देश्य से मध्य प्रदेश बोर्ड ने फैसला लिया है की बोर्ड परीक्षा में 25 प्रश्नों की जगह 40 प्रतिशत प्रश्न ऑब्जेक्टिव रहेंगे. आज के इस लेख में हम आपको इस प्रकरण से सम्बंधित सभी जानकारी देंगे . यदि आप इसी प्रकार की जानकारी चाहते है तो आप हमारी वेबसाइट को बार बार विजिट करे और इस वेबसाइट को अपने बुकमार्क में सेव करे. मध्य प्रदेश बोर्ड ने यह फैसला बढ़ते कोरोना के प्रभाव को देखते हुए भी लिया है क्योंकि बच्चे इस दौरान अच्छे से पढाई नही कर पाते है और फिर बच्चो का रिजल्ट ख़राब होता है. मध्य प्रदेभ बोर्ड ने कहा है की क्रोरोना प्रकरण बढ़े तो इंटरनल अस्सेमेंट से वैल्यूएशन की व्यवस्था की जा रही है. आपको बता दे की इस वर्ष बोर्ड की परीक्षा 1 महीने पहले ही कराने का ऐलान कर दिया है. इस वर्ष मध्य प्रदेश बोर्ड की परीक्षा फरवरी माह में आयोजित होगी. जनवरी के पहले हफ्ते में ही कक्षा 10 एवं कक्षा 12 की परीक्षाओं के लिए परीक्षा केन्द्रों की सूचि जारी कर दी जायेगी. कोरोना के बढ़ते खतरे को लेकर इस वर्ष परीक्षा केन्द्रों में 10 प्रतिशत का इजाफा किया गया है.

इन्हें भी पढ़े….

मध्य प्रदेश बोर्ड : कोरोना बढ़ा तो इंटरनल असेसमेंट से होगा वैल्यूएशन

मध्य प्रदेश बोर्ड की वार्षिक परीक्षा फरवरी माह में होने वाली है. अगले हप्ते में कक्षा 10 एवं 12 वीं परीक्षाओ के लिए परीक्षा केन्द्रों की सूचि मध्य प्रदेश बोर्ड जारी करेगा. इस वर्ष कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए परीक्षा केन्द्रों की संख्या में 10% का इजाफा किया गया है. साथ इस वर्ष परीक्षा में 25 की जगह 40 फीसदी ऑब्जेक्टिव प्रश्नों की सख्या कर दी गयी है. इस बार प्राइवेट विद्यार्थियो के परीक्षा केंद्र 3 किलोमीटर से ज्यादा दूर नही बनाये जायेंगे . बोर्ड ने रिजल्ट बेहतर करने के लिए सत्र 2021-22 के परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव किया है. अब प्रश्न पत्र में 40 % ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जायेंगे. पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण परीक्षा निरस्त कर दी गयी थी और अंतिम परिणाम त्रैमासिक परीक्षा एवं छमाही एवं प्री बोर्ड परीक्षा के नम्बरों के आधार पर तैयार किया गया था. बोर्ड ने परीक्षा ऑफलाइन करने की तैयारी कर ली है, लेकिन आपातकाल की स्थिति के लिए इंटरनल असेसमेंट का भी विकल्प तैयार कर लिया है.

 

बोर्ड का प्राथमिक उद्देश्य ऑफलाइन परीक्षा कराने का

मध्य प्रदेश बोर्ड का प्राथमिक उद्देश्य परीक्षा को ऑफलाइन कराने का है. अगर परीक्षा किसी कारणवश नही हो पाती है तो अंतिम परिणाम , तिमाही , अर्द्धवार्षिक और पुरे वर्ष के मूल्याङ्कन के आधार पर तैयार होगा. इस वर्ष कक्षा 10 वीं की वार्षिक परीक्षा 18 फरवरी और कक्षा 12 वीं की परीक्षा 17 फरवरी 2022 से शुरू होंगी . इस परीक्षा में दोनों कक्षाओं के लगभग 18 लाख विद्यार्थी शामिल होंगे. बोर्ड द्वारा दी जा रही जानकारी के अनुसार , जनवरी के पहले हफ्ते में एडमिट कार्ड जारी कर दिए जायेंगे. और विद्यार्थी बोर्ड की वेबसाइट से एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकेंगे.. हाल ही में माध्यमिक शिक्षा मंडल कक्षा 10 वीं एवं 12 वीं के परीक्षा फॉर्म की स्क्रूटनी के साथ स्कूलों में एडमिशन की जांच भी कर रहा है. बोर्ड अधिकारीयों ने बताया की ऐसे स्कूल जिन्होंने 9 वीं या 10 वीं की दर्ज संख्या से 10% से अधिक एडमिशन दिए है, उनके दस्तावेजों की जांच की जा रही है. इसमें गड़बड़ी मिलने पर छात्र – छात्रों को प्राइवेट भी किया जा सकता है.

 

आशा करते है की आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी. इसी प्रकार की बोर्ड जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट [ advanceeducationpoint.com ] को लगातार विजिट करते रहे और इस बुकमार्क जरूर करे.

X
Optimized by Optimole