रेलवे वेंडरों की समस्याओं को लेकर IRCTeTSF बनाएगी सरकार पर दबाव, NFIR ने दिया समर्थन

[ad_1]

नई दिल्ली : भारतीय रेल (Indian Railways) में कैटरिंग सर्विस देने वाले और ई टिकटिंग स्टाफ (e-ticketing staff) की समस्याओं को लेकर इंडियन रेलवे कैटरिंग टूरिज्म ई टिकटिंग स्टाफ फेडरेशन (Indian Railway Catering Tourism E Ticketing Staff Federation) की बैठक हुई, जिसमें विभिन्न एजेंडे पर चर्चा हुई. इस चर्चा में फेडरेशन के अध्यक्ष एसएन मलिक, महासचिव रविन्द्र गुप्ता समेत एनएफआईआर के महासचिव एम. रघुवैया,अध्यक्ष गुमान सिंह, संयुक्त सचिव बीसी शर्मा समेत रेलवे के अन्य संगठनों से जुड़े अधिकारी मौजूद थे.

 

इस मौके पर NFIR के महामंत्री एम रघुवैया ने कहा कि हर गरीब वेंडर और कैटिरंग सर्विस देने वाले कर्मचारियों के हितों की रक्षा करने के लिए फेडरेशन का गठन किया गया. इनके पास न तो जॉब की सुरक्षा हैं और न ही मेडिकल सुविधा है. पेंशन की सुविधा नहीं है. जबकि भारतीय रेल में काम करने वाले कर्मचारियों को बाकी सब सुविधाएं प्राप्त हैं. जो लोग सेल्फ इंप्लाइड हैं, उनके लिए संगठन द्वारा इसकी मांग करना एक सराहनीय काम है. उन्होंने कहा कि इस इनीशिएटिव को एनएफआईआर का पूरा समर्थन होगा. उन्होंने यह भी कहा कि सिर्फ सरकार के सामने मांगे रखने से काम नही चलेगा, बल्कि उसके लिए कोशिश करनी होगी. आज डिर्पाटमेंटल कैटिरंग व्यवस्था को खत्म कर प्राइवेट कैटरिंग में पूजीपतियों को स्थान दिया जा रहा है इसके लिए सरकार नई पॉलिसी लेकर आई है. जबकि सरकार को चाहिए कि छोटे गरीब वेंडर को ज्यादा सुविधा देने के लिए पॉलिसी लाए.

फेडरेशन के अध्‍यक्ष एस एन मलिक ने इस मौके पर कहा कि  कैटरिंग सर्विस देने वाले और ई टिकटिंग स्टाफ (e-ticketing staff) से जुड़े जो भी मुद्दे एजेंडे में शामिल है, उसे फेडरेशन के जरिये पूरा कराने का प्रयास किया जाएगा.

 

फेडरेशन के मुख्य संरक्षक बीसी शर्मा ने कहा कि वेंडर की मृत्यु होने पर उनके आश्रितों को नौकरी दी जाए. आज भी स्टाल बंद होने के कारण बेसहारा 40 बच्चों के लिए हमारी लड़ाई जारी है. आईआरसीटीसी बनाने पर टेंडर बड़े लोगों को दे दिए गए. इससे छोटे वेंडर्स को काफी नुकसान हुआ. बाजार के अनुसार जीएसटी बार बार लगाना ठीक नहीं.

फेडरेशन के महासचिव रविन्द्र गुप्ता ने कहा कि फेडरेशन समस्याओं के सामाधान के लिए सरकार पर दबाव बनायेगी. उन्होंने कहा कि हमारी मांगों में वेंडरों को चिकित्सा सुविधा, भविष्य निधि की सुविधा, कार्य स्थल पर विश्राम गृह की सुविधा समेत मूल निवास से कार्य स्थल तक आने जाने के लिए बस पास की सुविधा आदि प्रमुख मांगे हैं.

[ad_2]

Source link

X
Optimized by Optimole